अनुक्रमणिका

अनुक्रमणिका

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 6

गुरुदेव की कृपा का फल


गुरुदेव की कृपा का फल

सारा ऋग्वेद और उससे सत्तावान साम, यजु, अथर्व और फिर उससे सत्तावान उपवेद और वेद की संहिता के 6 अंग- प्रत्यंग और उसका सारा का सारा इतिहास, पुराण और स्मृति, ये सारे तत्व आनुपूर्वीय क्रम से समझ लेने से कहीं ऋषित्व प्रधान रूप से...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 8

श्राीमद् भगवद्गीता के वक्ता और श्रोता


श्राीमद् भगवद्गीता के वक्ता और श्रोता

इस धर्म और अधर्म के क्षेत्र में संतुलन स्थापित करने के लिए ही भगवान अवतार लेते है और गीता का संदेश देते है। अत: गीता के वक्ता और श्रोता सदैव हम ही हैं। यह भाव जब तक हमारे मन में नहीं उपजेगा।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 10

अनुभव की खाई में गिरे हौसले


अनुभव की खाई में गिरे हौसले

इन दिनों भाइयों-बहनों के आपसी संवाद में स्नेह की नदी उथली होती जा रही है, क्योंकि प्रत्येक परिवार अपनी प्रतिदिन की योजनाओं को ही पूरा करने में व्यस्त है। उन्हीं में उलझा हुआ है।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 12

हम अर्थात कौन?


हम अर्थात कौन?

हम सब अपने-अपने हम को पहचानें, अपने में निहित शक्ति को पहचानें, अपने साधनों-संसाधनों को पहचानें और देश की जनता और खासतौर से गरीब-अनपढ़-निरक्षर और वंचित जनता के प्रति अपने कर्तव्य को पहचानें। अगर ये सारे हम अपने कर्तव्य को कर्म में बदल देते हैं...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 14

समय-प्रबंधन की कला सीखें


समय-प्रबंधन की कला सीखें

जब व्यक्ति अपने समय का प्रबंधन नहीं करता है तब हर समय वह "समय नहीं है" का रोना रोता रहता है। आज के व्यक्ति के जीवन की सबसे बड़ी विडम्बना यह है कि उसके पास धन तो बहुत है किंतु परिवार के लिए उसके पास समय नहीं है।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 16

ज्ञान का भंडार है कृष्ण-दर्शन


ज्ञान का भंडार है कृष्ण-दर्शन

श्रीकृष्ण कृपा से ही परमानंद की प्राप्ति होगी। तो नमन है ऐसे जगद्गुरु को जो आज भी ज्ञान की रोशनी दे रहे हैं, आवश्यकता है पहचानने की! श्रीकृष्ण को समझने के लिए गीता के ज्ञान को व्यवहार में लाना जरूरी है और तभी जान पायेंगे कि, श्रीकृष्ण जगद्गुरु हैं!...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...